स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, मुंबई
Published by: अंशुल तलमले
Updated Sat, 03 Apr 2021 10:48 AM IST

वानखेड़े स्टेडियम, मुंबई
– फोटो : ट्विटर

ख़बर सुनें

समूचा हिंदुस्तान इस वक्त कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। विषम हालातों के बीच 9 अप्रैल से देश में आईपीएल का भी आयोजन होना है। टूर्नामेंट शुरू होने से हफ्ते भर पहले एक ऐसी खबर आ रही है जो बीसीसीआई को भी झकझोर देगी। मुंबई के ऐतिहासिक वानखेड़े स्टेडियम के आठ मैदानकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसी मैदान पर 30 मई को फाइनल मुकाबला भी खेला जाना है।

दो दौर की टेस्टिंग में सामने आठ मामले
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्टेडियम में 19 कर्मचारी काम रहे हैं, जिनका मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) ने बीते हफ्ते कोरोना टेस्ट करवाया था, जिनमें से 26 मार्च को तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अगले दौर की टेस्टिंग की रिपोर्ट 1 अप्रैल को आई, जिसमें पांच और कर्मचारी संक्रमित पाए गए।

रोजाना लोकल ट्रेन से स्टेडियम पहुंचते हैं कर्मचारी
अधिकतर कर्मचारी स्टेडियम में नहीं रहते हैं, वो रोजाना लोकल ट्रेन, बस के सहारे स्टेडियम आना-जाना करते हैं। अब MCA टूर्नामेंट खत्म होते तक कर्मचारियों को रहने की सुविधा मुहैया कराने की तैयारी में है। बांद्रा कुर्ला कॉम्पलेक्स स्थित शरद पवार अकादमी और कांदीवली स्थित सचिन तेंदुलकर जिमखाना में व्यवस्था की जा सकती है। महाराष्ट्र में कोरोना की गति को ध्यान में रखते हुए बीसीसीआई मुंबई से आयोजन स्थल कहीं और शिफ्ट करने पर भी विचार कर सकता है।

यहां फाइनल समेत होने हैं 10 मैच
आईपीएल की गाइडलाइंस के मुताबिक शुरुआती दौर के मैच बिना दर्शकों के बंद स्टेडियम में खेले जाने थे, बाद में कोरोना की स्थिति को ध्यान रखते हुए फैंस की एंट्री पर फैसला लिया जाता, लेकिन देश में बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए इसकी संभावना कम ही नजर आ रही है। यहां पहला मैच दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच 9 अप्रैल को खेला जाना है। वानखेड़े स्टेडियम में 10 अप्रैल से 25 अप्रैल के बीच कुल 10 मैच होने हैं।

देश में कोरोना का कहर
बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 89,000 से ज्यादा नए मरीज मिले हैं। वहीं कोरोना संक्रमण से 714 मरीजों की जान चली गई। संक्रमितों का यह आंकड़ा पीक से सिर्फ नौ हजार दूर है। इससे पहले 16 सितंबर को सबसे ज्यादा 97,860 मरीज मिले थे, इसके बाद यह आंकड़ा कम होना शुरू हो गया था।

विस्तार

समूचा हिंदुस्तान इस वक्त कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। विषम हालातों के बीच 9 अप्रैल से देश में आईपीएल का भी आयोजन होना है। टूर्नामेंट शुरू होने से हफ्ते भर पहले एक ऐसी खबर आ रही है जो बीसीसीआई को भी झकझोर देगी। मुंबई के ऐतिहासिक वानखेड़े स्टेडियम के आठ मैदानकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसी मैदान पर 30 मई को फाइनल मुकाबला भी खेला जाना है।

दो दौर की टेस्टिंग में सामने आठ मामले

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्टेडियम में 19 कर्मचारी काम रहे हैं, जिनका मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) ने बीते हफ्ते कोरोना टेस्ट करवाया था, जिनमें से 26 मार्च को तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अगले दौर की टेस्टिंग की रिपोर्ट 1 अप्रैल को आई, जिसमें पांच और कर्मचारी संक्रमित पाए गए।

रोजाना लोकल ट्रेन से स्टेडियम पहुंचते हैं कर्मचारी

अधिकतर कर्मचारी स्टेडियम में नहीं रहते हैं, वो रोजाना लोकल ट्रेन, बस के सहारे स्टेडियम आना-जाना करते हैं। अब MCA टूर्नामेंट खत्म होते तक कर्मचारियों को रहने की सुविधा मुहैया कराने की तैयारी में है। बांद्रा कुर्ला कॉम्पलेक्स स्थित शरद पवार अकादमी और कांदीवली स्थित सचिन तेंदुलकर जिमखाना में व्यवस्था की जा सकती है। महाराष्ट्र में कोरोना की गति को ध्यान में रखते हुए बीसीसीआई मुंबई से आयोजन स्थल कहीं और शिफ्ट करने पर भी विचार कर सकता है।

यहां फाइनल समेत होने हैं 10 मैच

आईपीएल की गाइडलाइंस के मुताबिक शुरुआती दौर के मैच बिना दर्शकों के बंद स्टेडियम में खेले जाने थे, बाद में कोरोना की स्थिति को ध्यान रखते हुए फैंस की एंट्री पर फैसला लिया जाता, लेकिन देश में बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए इसकी संभावना कम ही नजर आ रही है। यहां पहला मैच दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच 9 अप्रैल को खेला जाना है। वानखेड़े स्टेडियम में 10 अप्रैल से 25 अप्रैल के बीच कुल 10 मैच होने हैं।

देश में कोरोना का कहर

बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 89,000 से ज्यादा नए मरीज मिले हैं। वहीं कोरोना संक्रमण से 714 मरीजों की जान चली गई। संक्रमितों का यह आंकड़ा पीक से सिर्फ नौ हजार दूर है। इससे पहले 16 सितंबर को सबसे ज्यादा 97,860 मरीज मिले थे, इसके बाद यह आंकड़ा कम होना शुरू हो गया था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here