मुंबई पुलिस के निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे
– फोटो : PTI

ख़बर सुनें

एंटीलिया केस में जैसे-जैसे केंद्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की जांच आगे बढ़ती जा रही है वैसे ही एक के बाद एक नए खुलासे भी होते जा रहे हैं। दरअसल, इस केस में जांच के दौरान एनआईए के सामने एक और खुलासा हुआ है। सूत्रों की मानें तो गिरफ्तार चल रहे मुंबई पुलिस के निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे नरीमन पॉइंट स्थित एक पांच सितारा होटल के कमरे में कथित तौर पर फिरौती का एक रैकेट चला रहा था। इस कमरे को जावेरी बाजार के एक व्यापारी ने 100 दिनों के लिए बुक किया था, जिसके लिए 12 लाख का भुगतान किया गया था।

जानकारी के अनुसार एंटीलिया केस से सिलसिले में जांच के एक हिस्से के रूप में एनआईए ने शुक्रवार को एक सफेद मर्सिडीज को जब्त किया है।
 

एनआईए को जांच के दौरान पता चला कि मुंबई के एक ट्रैवल एजेंट ने सोना कारोबारी के कहने पर पांच सितारा होटल के 19वें माले पर एक कमरा बुक कराया था। यह कमरा सचिन वाजे के लिए बुक करवाया गया था। जांच में सामने आया कि होटल में कमरा नंबर 1964 बुक कराने के लिए वाजे के पहचान पत्र के तौर पर फर्जी आधार कार्ड दिया गया था। इसमें वाजे का नाम सुशांत सदाशिव खामकार लिखा था। जानकारी के अनुसार एनआईए को होटल से एंटीलिया केस से संबंधित कई अन्य सबूत भी मिले हैं। इनमें सीसीटीवी फुटेज, बुकिंग रिकॉर्ड और स्टाफ का बयान शामिल है।

सूत्रों का यह भी कहना है कि वाजे ने यह कमरा छुपने के लिए बुक कराया था। उसे इस बात का अंदेशा था कि उसे कुछ दिनों के लिए गायब होना पड़ सकता है। इसके लिए उसने पहले से सोच-समझकर पूरी तैयारी कर रखी थी। वहीं, होटल के स्टाफ के बयान के आधार पर यह बात भी सामने आई है कि वाजे यहां पर 16 से 20 फरवरी तक रुका था और इस दौरान उससे कई लोग मिलने आए थे। नरीमन पॉइंट स्थित इस होटल से एनआईए ने 35 कैमरों के फुटेज जब्त किए हैं।

सचिन वाजे 16 फरवरी को होटल में इनोवा कार से आया था और 20 फरवरी को लैंड क्रूजर से निकला था। इन दोनों गाड़ियों को एनआईए ने जब्त कर लिया है। वाजे की होटल में रुकने की यह तारीखें, उन घटनाओं से मेल खाती हैं जब उसने और उसकी टीम ने मुंबई में लाइसेंस उल्लंघन को लेकर कई प्रतिष्ठानों पर रात में छापेमारी की थी।

इधर, एनआईए ने जांच के ही सिलसिले में शुक्रवार को मुंबई के एक क्लब के मालिक का भी बयान दर्ज किया है। एनआईए ने उसे शुक्रवार सुबह 11 बजे पूछताछ के लिए बुलाया था और शाम 4.50 बजे जाने दिया। यह क्लब साउथ मुंबई में एक होटल बना हुआ है।

एनआईए को क्लब के मालिक और मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में गिरफ्तार क्रिकेट बुकी नरेश गोर और सस्पेंड कॉन्स्टेबल विनायक शिंदे के बीच संबंध की जानकारी मिली है। इतना ही नहीं, एनआईए ने शुक्रवार को सचिन वाजे के सहकर्मी रियाजुद्दीन काजी और प्रकाश होवल से भी पूछताछ की।

बता दें, एनआईए इन दोनों से पहले भी पूछताछ कर चुकी है। इसके अलावा 35 अन्य पुलिस अधिकारियों से भी पूछताछ की गई है, जो वाजे के साथ काम कर चुके हैं। इनमें से कुछ अफसरों को भविष्य में गिरफ्तार किया जा सकता है।

यहां ध्यान देने वाली यह भी है कि शनिवार को वाजे की हिरासत की अवधि समाप्त हो रही है, लेकिन अभी उससे कुछ और पूछताछ भी की जानी है। ऐसे में एनआईए उसकी कस्टडी पीरियड को बढ़ाने की अपील कर सकती है। शनिवार की दोपहर को मेडिकल परिक्षण कराने के बाद वाजे को एनआईए के स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा, जहां उसकी कस्टडी की अवधी बढ़ाई जा सकती है।

माना जा रहा है कि अभी मनसुख की हत्या मामले में कुछ और जांच बाकी है। इस बीच गुरुवार को पकड़ी गई रहस्यमयी महिला मीना जॉर्ज को वाजे के सामने बैठा कर भी एनआईए पूछताछ करना चाहती है।

विस्तार

एंटीलिया केस में जैसे-जैसे केंद्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की जांच आगे बढ़ती जा रही है वैसे ही एक के बाद एक नए खुलासे भी होते जा रहे हैं। दरअसल, इस केस में जांच के दौरान एनआईए के सामने एक और खुलासा हुआ है। सूत्रों की मानें तो गिरफ्तार चल रहे मुंबई पुलिस के निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे नरीमन पॉइंट स्थित एक पांच सितारा होटल के कमरे में कथित तौर पर फिरौती का एक रैकेट चला रहा था। इस कमरे को जावेरी बाजार के एक व्यापारी ने 100 दिनों के लिए बुक किया था, जिसके लिए 12 लाख का भुगतान किया गया था।

जानकारी के अनुसार एंटीलिया केस से सिलसिले में जांच के एक हिस्से के रूप में एनआईए ने शुक्रवार को एक सफेद मर्सिडीज को जब्त किया है।

 


आगे पढ़ें

फर्जी आधार कार्ड देकर वाजे के लिए बुक कराया गया कमरा





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here